अखिलेश यादव के प्रदेश में ये क्या हो रहा है? छेड़खानी सरेआम और विरोध करने पर पीटा जा रहा है!

यूपी में चुनाव होने को हैं. सभी दल अपनी-अपनी डींगें हांक रहे हैं. वोट सबको चाहिए, लेकिन इन सबके बीच से जनता-जनार्दन ही गायब है. उसकी सुरक्षा और कानून-व्यवस्था गायन है. यूपी के युवा मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भले ही महिला सुरक्षा के लिए कई वादे किए हों, कई पर अमल भी किया, लेकिन हालात इतने बदतर हैं कि शर्मिंदा कर दें. उत्‍तर प्रदेश के जनपद मैनपुरी में एक महिला के साथ दुर्व्‍यवहार एवं मारपीट की शर्मनाक घटना सामने आई है. मैनपुरी खास इसलिए भी है कि ये मुलायम यादव के पोते तेज प्रताप यादव का संसदीय क्षेत्र भी है.

woman-beaten1

इस वीडियो को देखिए और उस औरत की आक्रोशित आवाज़ के पीछे अपमान और निराशा को महसूस करिए. क्या गलती है इस महिला की और उसने जो कपड़े पहने हैं, क्या वो भड़काऊ हैं? अगर हैं भी तो किसी को भी उसके साथ बदतमीज़ी करने का हक़ किसने दिया? 

Posted by Awesh Tiwari on Monday, December 19, 2016

woman-beaten2

रिपोर्टों के अनुसार, छेड़छाड़ का विरोध करने पर कुछ बदमाशों ने एक महिला को लाठी और डंडों से जमकर पीटा. इस मारपीट में महिला का सिर फट गया. मौके पर मौजूद भीड़ तमाशा देखती रही, लेकिन कोई भी महिला को बचाने सामने नहीं आया. उस महिला की आत्मा तड़प रही है क्योंकि सभी ने उसे पिटते हुए तमाशा देखा.

Posted by Awesh Tiwari on Monday, December 19, 2016

woman-beaten3

दरअसल, बीच सड़क पर इस महिला के साथ छेड़खानी की गई. जब महिला और उसके पति ने छेड़खानी का विरोध किया, तो दोनों पति-पत्नी को बीच सड़क पर लाठियों से बुरी तरह पीटा गया.

युवती के मुताबिक, लफंगों ने उससे कहा कि वह कैसे कपड़े पहनती है और फिर उसके साथ छेड़खानी व मारपीट की. उसे लाठियों से बीच सड़क पर पीटा गया. हैरत की बात यह है कि इस दौरान कोई भी उन्हें बचाने के लिए नहीं आया. पुलिस के मौके पर पहुंचने तक आरोपी भाग चुके थे. घायल महिला ने थाने में तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है.

उसके सम्मान को चोट पहुंचाने में उन लड़कों का हाथ तो है, लेकिन ऐसा होते देखने वाले भी कम गुनहगार नहीं हैं. शायद वे इसलिए चुप थे कि जिस महिला का अपमान हो रहा था, वो उनकी बहन, बेटी या पत्नी नहीं थी. 

- Advertisement -

फेसबुक वार्तालाप