शौचालय बनवाने के नहीं थे पैसे, फिर इस शख्स ने किया कुछ ऐसा कि सब वाह-वाह करने लगे

कहा जाता हैं की आवश्यकता ही आविष्कार की जननी है ।कुछ ऐसा ही कर दिखाया पश्चिम बंगाल के अशोक भेमिक नाम के एक शख्स ने ।अशोक ने प्लास्टिक की बोतल को अपने नए तरीके से इस्तमाल किया जिससे उनकी जरूरत भी पूरी हो गयी और प्लास्टिक से बढ़ता प्रदूषण भी थमता दिखाई दे रहा हैं ।जी हाँ दोस्तों आप जानकर हैरान हो जायेंगे की इस शख्स ने प्लास्टिक की बोतलो से सोचलिया बना दिया हैं ।

हमे मालूम हैं ये बात सुनकर आप हैरान हो गए होंगे ,लेकिन दोस्तों सच में इन्होने प्लास्टिक की बोतलों से सोचलिया बनाया हैं ।पश्चिम बंगाल के रहने वाले इस शख्स ने प्लास्टिक की बोतलों का बहुत ही अच्छे तरिके से इस्तेमाल किया और उससे टॉयलेट बना डाला ।

खबरों की माने तो बताया जा रहा हैं की अशोक के पास सोचलिया बनवाने के पैसे नहीं थे इस वजह से उन्होंने बोतलों के अंदर बालू और अलग अलग तरह का कचरा भर कर दिवार कड़ी करदी और इसे बनाने ने उनके ज्यादा पैसे भी नहीं लगे हैं ।

अशोक ने इन बोतलों में कचरा भर कर उन्हें लाइन से रखा फिर और फिर सीमेंट और मिट्टी की मदद से इन्हें जोड़ दिया ।

पश्चिम बंगाल के वर्धमान जिले के रहने वाले अशोक का ये नए तरीके का सोचलीये देखने के लिए लोग दूर दूर से आया करते हैं ।

प्लास्टिक की बोतलों का इस तरह से उपयोग कर सोचलैया बनाना बहुत ही बेहतरीन तरीका हैं और कोई भी इनके इस नए तरीके से बने सोचलिया को देखता हैं तो हैरान हो जाता हैं ।

जैसे के आप सभी को मालूम हैं की प्लास्टिक से पर्यावरण को बहुत ज्यादा नुकसान पहुंचता है और इसकी रिसाइकलिंग में काफी खर्च आता है।प्लास्टिक की बेकार बोतलों को इस्तेमाल करने का ये तरीका प्लास्टिक से जूड़े प्रदूषण को रोकने की दिशा में एक कदम के रूप में देखा जा रहा है।

 

- Advertisement -

फेसबुक वार्तालाप