शारीरिक ऊर्जा बढ़ाने लिए राजा महाराजा करते थे इन गुप्त नुस्खों का प्रयोग,ताकत के लिए आप भी अपनाएं

पहले के समय में राजा महाराजा एक से ज्यादा बीविया रखा करते थे और इसके अलावा वे अपने बहुत बड़े राज्य को भी संभालते थे ,लेकिन क्या आप जानते हैं वे इतनी ताकत इतनी ऊर्जा लाते कहा से थे ? अगर नहीं जानते तो आज हम आप को बताएंगे की उस समय राजा महाराज शारीरिक ऊर्जा बढ़ाने के लिए कौन किन आयुर्वेदिक चीजों का इस्तमाल किया करते थे । हम आपको बता दें कि प्राचीन समय में राजाओं के यहां राजवैध हुआ करते थे, जो राजाओं के लिए जड़ी बूटियों, रसायन तथा धातुओं के माध्यम से कई अचूक नुस्खे बनाते थे। इन दवाओं में ताकत बढ़ाने वाले इंग्रीडिएंट्स होते थे, जिनको खाने के बाद में राजा लोग लंबे समय तक जवान तथा ताकत से भरपूर रहते थे। आज हम आपको यहां आयुर्वेद की कुछ ऐसी ही औषधियों के बारे में जानकारी दे रहें हैं जिनका प्रयोग कर आप भी अपनी शारीरिक क्षमता को बढ़ा सकते हैं।

1 – शिलाजीत-

शिलाजीत को चावल के दाने जितना छोटा कर के उसे गाय के गहि या फिर सेहद के साथ लिया करे ।इस से आप का शरीरक में काफी ताकत आएगी और इसके साथ साथ शारीरिक ऊर्जा भी काफी बढ़ जाएगी ।इसे खाने से आप का बहुधापा भी काफी लेट आएगा ।

2 – अश्वगंधा –

अश्वगंधा का आधा चमच रोज सोने से पहले हले गर्म दूध में डाल कर पिए । इसे लेने से सरीर में जो शारीरिक कमजोर हैं वो दूर होती हैं और थकान भी दूर होती हैं रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ेगी।

3 – सफेद मूसली –

सफेद मूली का पाउडर कर के उसे रोज सुबह और शाम मिश्री या फिर दूध के साथ ले । इसे लेने से कमजोर का नामोनिशान नहीं रहता और शारीरक ऊर्जा भी बढ़ती हैं । आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।

आप बह ऐसा करके राजा महराजाओं की तरह लम्बे समय तक जवान और तंदरुस्त रह सकते हैं ।हम आप को वैसेह रूप से सलाह भी देते हैं की इस का प्रयोग करने से पहले एक बार किसी आयुर्वेदिक एक्सपर्ट से सलाह जरूर ले ले ।

- Advertisement -

फेसबुक वार्तालाप