मर कर जिंदा हुए बुजुर्ग ने सुनाई परलोक की दास्ताँ, बोला- ‘दो लोग घसीट कर लेजा रहे थे मुझे…’

इस दुनिया में जो भी जो इंसान जन्म हैं उसे एक दिन वापस मरना तो हैं ही ।बड़े बुजुर्ग कहते हैं की मारने के बाद इंसान की आत्मा उसके शरीर को छोड़ देती हैं और परलोक चली जाती हैं ।बात करे हिन्दू धर्म की तो उनके अनुसार यमराज को प्राणहरता के नाम से जाना जाता है और यमराज ही इंसान को मृत्यु दिया करते हैं ,लेकिन इसके अलावा वह इंसान की एक मनोकामना पूरी किया करते हैं ताकि अपने कामो और जिम्मेदारियों से फ्री हो जाए ।पर उस दौरान हम यमराज के किसी संकेत को नहीं समझ पते हैं और कोई अंतिम इच्छा लेकर ही मृत्यु के पास पहुंच जाते हैं ।

वैसे आज के समय में साइंस ने बहुत तरक्की कर ली हैं ,लेकिनइसके बाद भी अभी तक कोई ये नहीं पता लगा पाया हैं की इंसान का मोत के बाद क्या होता हैं उसकी आत्मा कहा जाती हैं ।लेकिन हाल ही में एक ऐसी घटना हुई जिसे सुनने के बाद सभी हैरान हो गए हैं ।दरअसल, फिरोजाबाद में कथित रूप से मृत और फिर जिंदा हुए एक बुजुर्ग की कहानी इन दिनों काफी चर्चाओं में हैं ।खबरों को मुताबिक बताया जा रहा हैं की बुजुर्ग की कुछ दिन पहले मृत्यु हो गयी थे लेकिन कुछ समय बाद वह फिर से जिन्दा हो गए जिसके बाद इन्हे देखने के लिए हर कोई जा रहा है ।

आप की जानकारी के लिए बता दे की 2 दिन पहले ही सांस के रोकने की वजह से ज्ञान सिंह की मोत हो गयी थी लेकिन अब वह जिन्दा हैं ।अब आप अभी ये सोच रहे हैं की आखिर मारा हुआ इंसान वापस कैसे जिन्दा हो सकता हैं ?तो बता दे की अचानक से जब ज्ञान सिंह की मोत हुई तब उनके घर वाले उनका अंतिमसंस्कार के लिए श्मशान ले जा रहे थे उस दौरान उन्होंने ज्ञान सिंह शरीर को हिलते हुए देखा ।

मुर्दे को अचानक से हिलता देख वह मौजूद सभी लोग काफी डर गए थे ,लेकिन गांव के ग्रामीण नेपाल सिंह ने बताया कि शायद ज्ञान सिंह में जान फिर से लौट आई है ।जब नेपाल सिंह ने ये बात बताई तब अचानक से ज्ञान सिंह उठ कर खड़े हो गए थे और उन्होंने मोत के बात का दृश्य सभी के सामने बताया ।ज्ञान सिंह ने बताया की उनकी मोत के बाद दो लोग उन्हें घसीट कर ले जा रहे थे लेकिन जहा उन्हें लेजाया जा रहा था वह किसी कारणों की वजह से उन्हें अंदर नहीं जाने दिया जा रहा था ।

इसके बाद जब उन्होंने वापस जाने से इंकार किया तो उन्हें गर्म लकड़ियों से पीटा जा रहा था और यहाँ तक की उनके शरीर पर उबलता हुआ गर्म पानी भी डाल दिया गया । वहीं एक रिपोर्ट के अनुसार ज्ञान सिंह के घर वालों का कहना है कि यमराज के दूत किसी और व्यक्ति के धोखे में ज्ञान सिंह को ले गए परंतु अभी ज्ञान सिंह का समय बाकी था इसलिए उन्हें वापस भेज दिया गया ।

 

- Advertisement -

फेसबुक वार्तालाप