बुर्का उतारकर इस मुस्लिम लड़की ने बचा ली एक भारतीय की जान, जानने के बाद आप भी करेंगे सलाम

सऊदी अर्ब में भले ही महिलाओ को पूरी आजादी नहीं दी हुई लेकिन उनकी सोच हर तरह से आजाद हो रखी हैं ।सऊदी महिलाय आज भी वो काम कर सकती हैं जो वह के मर्द तक नहीं कर सकते हैं ।कुछ ऐसा ही किया सऊदी की महिला ने ।जहा एक तरफ खड़े सभी मर्द तमाशा देख रहे थे वही एक महिला ने अपनी जान को हथेली में रख कर एक सख्स की जान बचाई ।एक बात जानकार आप हैरान रह जायेंगे की सऊदी की इस महिला ने जिस सख्स की जान बचाई वो सऊदी का रहने वाला नहीं था बल्कि एक भारतीय था ।

अपनी बहादुरी का परिचय देते हुए 22 साल की एक सऊदी लड़की ने आग में झुलस रहे एक भारतीय की जान बचाई. मुस्लिम देशों में बुर्के का बहुत महत्व होता है. यहां पर कोई भी मुस्लिम लड़की बिना बुर्के के घर से बाहर नहीं निकलती. लेकिन इस लड़की ने व्यक्ति की जान बचाते वक़्त अपने बुर्के तक की परवाह नहीं की और उसकी जान बचाने के लिए बुर्के का इस्तेमाल किया. इस घटना के बाद से यह लड़की वहां के लोगों के लिए प्रेरणा बन गई है. लोग उसे हीरो की नज़रों से देखने लगे हैं.
भारतीय ट्रक ड्राइवर हरकिरीत सिंह के लिए 22 साल की जवाहर सैफ अल कुमैती किसी फ़रिश्ते से कम नहीं थी ।दरअसल कुछ दिनों पहले जवाहर अल कुमैती अपने दोस्तों के साथ खइमाह सेहर की तरफ निकल रही थी ।उस दौरान उन्होंने रास्ते में देखा की दो ट्रक बहुत ही तेजी से जल रहे थे ।गाड़ियों को जलते देख सैफ अल कुमैती हाथो हाथ अपनी गाडी रोक कर उतरी और ट्रक के पास गयी ।ट्रक के पास जाने पर अंदर से उसे किसी के कराहने की आवाज़ आई.

यह देखते ही जवाहर उसकी मदद करने के लिए आगे आई. आप जानकर हैरान होंगे कि उस वक़्त घटनास्थल पर बहुत सारे लोग मौजूद थे लेकिन किसी में झुलसते हुए आग को बुझाने की हिम्मत नहीं थी. लेकिन जवाहर ने बुर्के की मदद से केबिन में लगे आग को किसी तरह बुझाया और हरकिरीत को बाहर निकाला. हरकिरीत को निकालने के बाद वह इमरजेंसी सर्विस आने तक वहां रुकी रहीं. बाद में वह पुलिस से मिले बिना चली गईं.
जब सऊदी के लोगो को इस लड़की की बहदुरी के बारे में मालुम चला तो एमरजेंसी डिपार्टमेंट के हेड मेजर तारेक अल शरहन ने खुद इस घटना को इंस्टाग्राम पर शेयर किया था ।वह इसके ज़रिये जवाहर की तलाश करके उसे सम्मानित करना चाहते थे. पोस्ट शेयर करने के बाद जवाहर का पता चल गया और वहां की स्थानीय पुलिस ने उसे सम्मानित किया. वहीं, भारतीय दूतावास ने भी इस लड़की के जज्बे को सलाम करते हुए उसे सम्मान दिया.

- Advertisement -

फेसबुक वार्तालाप